कोई ख्वा

कोई ख्वा

कोई ख्वाइश तेरी अधूरी ना रहे
चाहे जिसे तू उससे दूरी ना रहे,
खुशियो  के फूल इतने खिले तेरे जीवन मे
के हमारी याद भी तेरे लिए ज़रूरी ना रहे.... !!!

More Shayari Related to कोई ख्वा from Bewafa Shayari

कोई ख्वाइश तेरी अधूरी ना रहे
चाहे जिसे तू उससे दूरी ना रहे,
खुशियो  के फूल इतने खिले तेरे जीवन मे
के हमारी याद भी तेरे लिए ज़रूरी ना रहे.... !!!

 

खुद को ख़ुदा कहा और खुद ही ख़ुदा हो गए,
रिश्तों की कशमकश में खुद से जुदा हो गए !
बांचते रहे तमाम उम्र आईने में अपनी सूरत,
तन्हा रहे जिंदगी में और भीड़ में ही खो गए !!

 

 

Pyar milta hain yahan kismat se,

Subki qismat mein wafa nhi hoti…

Har waqt rulata raha hai wo hadd se jyada wo.

DOSTO,

Hum sapne mein bhi jisko kabhi rone nhi dete.

.

 

Kisi aur ki bahon mein rehkar
Woh humse Wafa ki baat karte hain
Yeh kaisi chahat hai yaaro
Woh bewafa hain yeh jaankar bhi
Hum unhi se mohabbat karte hain…

This SMS is Posted on 02 Jul 2016 in Bewafa Shayari Category by Digvijay

Comments for

Advertisements